SPG Logo

विशेष सुरक्षा दल

(मंत्रिमंडल सचिवालय)

भारत सरकार

Indian Emblem

निदेशक का संदेश


विशेष सुरक्षा दल (वि.सु.द.) को भारत के प्रधान मंत्री, पूर्व प्रधान मंत्री और उनके परिवार के निकटतम सदस्यों को आसन्न सुरक्षा प्रदान करने का कार्य सौंपा गया है। 1985 में अपनी स्थापना के बाद से ही वि.सु.द. अपने संरक्षित लोगों को उनके कार्यालय और निवास स्थान पर, स्थानीय कार्यक्रमों एवं राष्ट्रीय तथा अंतर्राष्ट्रीय यात्राओं के दौरान सुरक्षा प्रदान कर रहा है।

वि.सु.द. "पूर्ण त्रुटिहीनता" और "उत्कृष्टता की संस्कृति" के आदर्श वाक्य पर काम करता है। वि.सु.द. के अधिकारिओं ने अपने कार्यों और उत्तरदायित्वों का निर्वहन भारत और भारत से बाहर भी पूर्ण समर्पण, निष्ठा, लगन तथा साहस के साथ किया है। प्रत्येक वि.सु.द. सदस्य राष्ट्र की अखंडता बनाए रखने के लिए एवं वि.सु.द. के आदर्श वाक्य में निहितार्थ "शौर्यम् सुरक्षणम् समर्पणम्" के पालन हेतु स्वयं को पूरी तरह से समर्पित करता है।

वि.सु.द. के घोषणापत्र के अनुसार इसके सदस्यों के ऊपर गहन जिम्मेदारी सौंपी गई है और इस जिम्मेदारी का निर्वहन बिना किसी समझौते के जैसा कि राष्ट्र अपेक्षा रखता है, उच्च व्यवसायिक प्रतिबद्धता के साथ किया जाना है। आधुनिकीकरण हेतु नई नई पहल करते रहना और बल की क्षमता निर्माण में संवर्धन करना एक सतत प्रक्रिया है।

वि.सु.द. में प्रशिक्षण पाठ्यक्रम और काम के माहौल के द्वारा प्रत्येक सदस्य को अपनी व्यक्तिगत क्षमताओं को पहचानने के लिए प्रोत्साहित किया जाता है ताकि प्रत्येक सदस्य सार्थक और अधिकतम योगदान देकर इस विशिष्ट संगठन की यश और कीर्ति को बढ़ाने के लिए सार्थक योगदान करे। इस बल के प्रत्येक सदस्य, चाहे वह किसी भी पद और संवर्ग का हो, अपेक्षा की जाती है कि वह सौंपे गए उत्तरदायित्वों का निर्वहन पूर्ण समर्पण व निष्ठा से करेगा।

अपनी समर्पित प्रतिबद्धता और उच्च स्तर की व्यावसायिक कुशलता के कारण ही वि.सु.द. ने ख्याति अर्जित की है। वि.सु.द. सुरक्षा प्राप्त विशिष्ट गणों को सुरक्षा प्रदान करने में प्रदर्शित व्यवसायिक कार्यकुशलता को सर्वत्र सराहा गया है। यह बल के सदस्यों के निरंतर प्रयासों एवं कड़ी मेहनत के कारण ही संभव हो सका है। इसने एक बहुआयामी, अत्यंत प्रवीण, अत्यंत पेशेवराना और प्रौद्योगिकी उन्मुख संगठन के तौर पर प्रतिष्ठा अर्जित की है और भविष्य में आने वाले सुरक्षा खतरों व चुनौतियों का सामना करने के लिए भी निरंतर प्रयत्नशील है।

देश में व्याप्त सुरक्षा वातावरण एवं अंतर्राष्ट्रीय आतंकवाद के कारण होने वाली चुनौतियों को ध्यान में रखते हुए यह बल लगातार प्रौद्योगिक आधुनिकीकरण की ओर अग्रसर है। निसंदेह भविष्य में एक संगठन के तौर पर हमें अपनी प्रशासनिक प्रणाली, भर्ती प्रक्रिया और प्रशिक्षण में सतत परिवर्तन लाते रहने होंगे। वि.सु.द. सुरक्षा प्राप्त विशिष्ट गणों को अविरल (24x7) आधार पर वर्षों तक सुरक्षा प्रदान करना इस अद्वितीय बल को बहुपयोगी बनाता है।